Hanuman Bhajan –He ram bhakt hanuman tumhe maine toh ab pahchan liya.


हे राम भक्त हनुमान तुम्हे, 
मैने तो अब पहचान लिया,
हे राम भक्त हनुमान तुम्हे, 
मैने तो अब पहचान लिया,
तुम दुष्ट संहारक हो तेरा, 
भक्तों ने सहारा मान लिया,
तुम दुष्ट संहारक हो तेरा, 
भक्तों ने सहारा मान लिया,
हे राम भक्त हनुमान तुम्हे,
मैने तो अब पहचान लिया।।

सुग्रीव बाली से डरकर जब,
उस निर्जन गिरी पर रोता था,
सुग्रीव बाली से डरकर जब,
उस निर्जन गिरी पर रोता था,
तब तू ही तो धीरज देकर ही,
उसके दुखड़ों को हरता था,
तब तू ही तो धीरज देकर ही,
उसके दुखड़ों को हरता था,
फिर राम से उसे मिलाया और,
सुग्रीव को अभय वरदान दिया,
हे राम भक्त हनुमान तुम्हे,
मैने तो अब पहचान लिया।।

जब रावण ने मुनि वेश बना,
माता सीता को हर डाला,
जब रावण ने मुनि वेश बना,
माता सीता को हर डाला,
हनुमत ने लंक जलाकर के,
माता का संशय हर डाला,
हनुमत ने लंक जलाकर के,
माता का संशय हर डाला,
फिर चूड़ामणि लाए मां की,
प्रभु मन को भी विश्राम दिया,
हे राम भक्त हनुमान तुम्हे,
मैने तो अब पहचान लिया।।

जब शक्ति लगी लक्ष्मण जी को,
तब तू ही बूटी लाया था,
जब शक्ति लगी लक्ष्मण जी को,
तब तू ही बूटी लाया था,
बूटी रूपी औषध से फिर,
लक्ष्मण का प्राण बचाया था,
बूटी रूपी औषध से फिर,
लक्ष्मण का प्राण बचाया था,
तब राम ने कहा पवनसुत से,
तूने तो ऋणी ही बना डाला,
हे राम भक्त हनुमान तुम्हे,
मैने तो अब पहचान लिया।।

लंका में था जब युद्ध मचा,
रावण ने तुझे ललकारा था,
लंका में था जब युद्ध मचा,
रावण ने तुझे ललकारा था,
तब राम नाम लेकर तूने,
रावण को मुक्का मारा था,
तब राम नाम लेकर तूने,
रावण को मुक्का मारा था,
रावण मूर्छित हो जागा तब,
बोला कपिबल ने कमाल किया,
हे राम भक्त हनुमान तुम्हे,
मैने तो अब पहचान लिया।।


हे राम भक्त हनुमान तुम्हे, 
मैने तो अब पहचान लिया,
हे राम भक्त हनुमान तुम्हे, 
मैने तो अब पहचान लिया,
तुम दुष्ट संहारक हो तेरा, 
भक्तों ने सहारा मान लिया,
तुम दुष्ट संहारक हो तेरा, 
भक्तों ने सहारा मान लिया,
हे राम भक्त हनुमान तुम्हे,
मैने तो अब पहचान लिया।।








Post a Comment

Previous Post Next Post