Kabhun Kiya Na Bhajanwa Kaise Sapri–Satsangi Bhajan Lyrics In Hindi.


कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कैसे सपरी ओ रामा कैसे सपरी,
कैसे सपरी ओ रामा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी।।

सह न सका जब कष्ट गर्भ के,
किया था क्या इकरार,
सह न सका जब कष्ट गर्भ के,
किया था क्या इकरार,
प्रभु तुम्हारा भजन करूंगा,
करो नरक से पार,
वादा भूला रे बेइमनवा कैसे सपरी,
वादा भूला रे बेइमनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी।।

बालापन हंस खेल गंवाया,
आ गई मस्त जवानी,
बालापन हंस खेल गंवाया,
आ गई मस्त जवानी,
मात–पिता ने करी सगाई,
दूल्हा बने गुमानी,
मात–पिता ने करी सगाई,
दूल्हा बने गुमानी,
बंध गयो हाथों में कंगनवा कैसे सपरी,
बंध गयो हाथों में कंगनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी।।

धूमधाम से ब्याह रचाया,
पहन केसरी जामा,
धूमधाम से ब्याह रचाया,
पहन केसरी जामा,
सोलह साल की दुल्हन लाए,
खत्म हुआ सब रामा,
सोलह साल की दुल्हन लाए,
खत्म हुआ सब रामा,
बन गए सजनी के सजनवा कैसे सपरी,
बन गए सजनी के सजनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी।।

मिसियों का रस पी–पीकर,
प्रभु को लगे भुलाने,
मिसियों का रस पी–पीकर,
प्रभु को लगे भुलाने,
बालापन से बापू बन गए,
बाबा लगे कहाने,
बालापन से बापू बन गए,
बाबा लगे कहाने,
कब लौ मारे या बुढ़नवा कैसे सपरी,
कब लौ मारे या बुढ़नवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी।।

दांत टूट गए,गाल पिचक गए,
खाल लगी मुरझाने,
दांत टूट गए,गाल पिचक गए,
खाल लगी मुरझाने,
डाल के खटिया दरवाजे पर,
बहू लगी गुर्राने,
डाल के खटिया दरवाजे पर,
बहू लगी गुर्राने,
कब लौ मारे या बुढ़नवा कैसे सपरी,
कब लौ मारे या बुढ़नवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कैसे सपरी ओ रामा कैसे सपरी,
कैसे सपरी ओ रामा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी,
कबहूं किया ना भजनवा कैसे सपरी।।




Post a Comment

Previous Post Next Post